Essay About Friendship in Hindi: मित्रता दिवस पर निबंध

क्या आप भी Mitrata Par Nibandh की तलाश कर रहे हैं? यदि हां, तो आप इंटरनेट की दुनिया की सबसे बेस्ट वेबसाइट essayduniya.com पर टपके हो. यदि आप भी about friendship in hindi essay, essay about friendship in hindi, Mitrata Par Nibandh, friendship essay in hindi, mitrata par anuched, sacchi mitrata par nibandh, paragraph on friendship in hindi, mitrata nibhana nibandh, mitrata nibhane par nibandh, mitrata nibhana par nibandh, paragraph on mitrata in hindi, hindi speech on friendship, nibandh on mitrata in hindi, sacchi mitrata par anuched in hindi, an essay on friendship in hindi, mitrata diwas par nibandh यही सब सर्च कर रहे हैं तो आपका इंतजार अब पूरा हुआ.

Essay About Friendship in Hindi

यहां हम आपको एक शानदार sacchi mitrata par nibandh उपलब्ध करा रहे हैं. यदि आप कक्षा 6,7,8,9,10,11 और 12 के विद्यार्थी हैं. और आपको about friendship in hindi essay चाहिए तो यह hindi speech on friendship आपके लिए बहुत ही ज्यादा उपयोगी होने वाला है. इस Mitrata Par Nibandh को सभी कक्षाओं के सभी विद्यार्थी उपयोग कर सकते हैं इसके साथ ही यदि आपको किसी निबंध प्रतियोगिता के लिए भी मित्रता पर निबंध लिखना है तो आपको यह आर्टिकल पूरा बिल्कुल ध्यान से पढ़ना चाहिए.

Essay About Friendship in Hindi
Essay About Friendship in Hindi

Sacchi Mitrata Par Nibandh

प्रस्तावना: हमारे जीवन में माता पिता और गुरुजनों के बाद स्थान मित्र का ही आता है. दोस्ती एक बहुत ही पवित्र रिश्ता होता हैं. कहा जाता है कि जीवन में एक सच्चे मित्र का होना बहुत भाग्य की बात है. क्योंकि एक सच्चा मित्र सगे संबंधियों से भी ज्यादा हमारे लिए महत्वपूर्ण होता है क्योंकि वह हमारे लिए हर कठिनाई के समय में खड़ा रहता है. हम हमारी सभी समस्याएं और खुशियां अपने मित्र के साथ ही शेयर करना पसंद करते हैं. सरल शब्दों में कहीं तो हमारा दोस्त ही हमारे सुख दुख का साथी होता है.

मित्रता का अर्थ (Friendship Meaning)

हमारे जीवन में ऐसी बहुत सारी परिस्थितियां आती है जब हमें किसी सहारे की आवश्यकता होती है लेकिन बहुत बार ऐसा होता है कि हमारे सगे संबंधी भी हमारी उसे कठिन परिस्थिति में साथ नहीं होते. लेकिन एक सच्चा मित्र कठिन से कठिन परिस्थिति में भी हमारे साथ चट्टान की तरह खड़ा रहता है. एक सच्चा मित्र ही हमें मुश्किलों से लड़ने के लिए प्रेरित करता है और मुश्किलों से निकालने में भी मदद करता है. चाहे मित्रता का रिश्ता जन्म से ना बनता हो लेकिन रहता पूरी उम्र भर है. मित्रता ही एक ऐसा रिश्ता है जिसमें जाति, धर्म, रंग-रूप, लिंग आदि सभी अडचने नहीं होती है. यह कतई जरूरी नहीं है कि किसी व्यक्ति की दोस्ती सिर्फ दूसरे व्यक्ति से ही हो. मित्रता एक भावना के रूप में होती है जो हमें वस्तुओं या जानवरों से भी हो सकती है.

दोस्ती के नाम पर बहुत बार ऐसे लोगों से भी मुलाकात हो जाती है जो सिर्फ अपना स्वार्थ सिद्ध करने के लिए दोस्ती करते हैं. और हमारा फायदा उठाने के लिए ही हमसे दोस्ती का हाथ बढ़ाते हैं. दुनिया में ऐसे बहुत सारे लोग होते हैं जो अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए दोस्ती जैसे पवित्र शब्द पर धब्बा लगाते हैं. वर्तमान की वास्तविकता यह है कि अच्छे लोग और सच्चे मित्र सिर्फ अपवाद स्वरूप रह चुके हैं. क्योंकि दुनिया में हर कोई पूरे मन से रिश्ता नहीं निभाता है.

मित्रता दिवस का इतिहास (Friendship Day History)

Friendship Day या मित्रता दिवस अगस्त महीने में आने वाले पहले रविवार को मनाया जाता है. यह दिन दोस्तों का दिन होता है. मित्रता दिवस मनाया जाने के पीछे एक कहानी है. कहानी यह है कि कई वर्षों पहले अमेरिका की सरकार द्वारा एक व्यक्ति को मार दिया गया था. लेकिन उसके कुछ समय बाद ही उसके एक दोस्त ने भी अपने दोस्त के गम में आत्महत्या कर ली. उसके बाद से ही अमेरिका की सरकार ने उस दिन को मित्रता दिवस यानी Friendship Day मनाने की घोषणा कर दी. लोगों का ऐसा मानना है कि पहली बार मित्रता दिवस 1935 में अमेरिका से शुरू हुआ था. 

लेकिन मित्रता के बारे में हमारे ग्रंथ में भी जानकारी मिलती है. क्योंकि लोग कृष्णा और सुदामा की मित्रता की मिसाल देते हैं. जब सुदामा भिखारी की अवस्था में कृष्ण से मिलने जाते हैं उस समय कृष्ण भी वहां के राजा होते हैं. तो कृष्ण भी अपनी दोस्ती के लिए नंगे पैरों से ही अपने महल से बाहर तक दौड़े आते हैं. इसीलिए कहा गया है कि दोस्ती में ना कोई ऊच नीच नहीं होती है. दोस्ती एकदम निश्चल होनी चाहिए. 

मित्रता दिवस क्यों मनाया जाता है? (Why is Friendship Day Celebrated ?)

दोस्ती एक पवित्र रिश्ता होता है जो सभी प्रकार की छुआछूत की धारणाओं से मुक्त होता है. मित्रता दिवस प्रत्येक वर्ष अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाया जाता है. मित्रता दिवस प्रत्येक वर्ष अगस्त महीने के पहले रविवार को मनाने की परंपरा है. मित्रता दिवस को मनाने के पीछे एक नहीं बल्कि हजारों कहानियां है. Work Friendship Day या International Friendship Day मनाने के बारे में सबसे पहले डॉक्टर रामन आर्टेिमियो ब्रैको ने 20 जुलाई 1958 में सोचा था. जिसके बाद से पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मित्रता दिवस मनाया जाता है. 

मित्रता दिवस का महत्व (Friendship Day Importance in Hindi)

हमारे जीवन में एक सच्चे दोस्त का उतना ही महत्व होता है जितना कि खुशियों का. क्योंकि किसी भी काम में खुशियां दोस्तों के साथ रहने से ही मिलती है. एक सच्चा दोस्त वही होता है जो अपने दूसरे दोस्त को कभी भी गलत काम नहीं करने देता. ना ही अपने दोस्त को कभी उदास होने देता है. जीवन की हर परिस्थिति में एक सच्चा दोस्त अपने दूसरे दोस्त के साथ चट्टान बनकर खड़ा रहता है. हम सभी एक सामाजिक प्राणी होने के कारण हमें अकेला रहने की आदत नहीं होती है.

एक रिसर्च यह बात साबित हुई है कि जो लोग अपने दोस्तों के साथ ज्यादा समय गुजारते हैं या उनके साथ रहते हैं. ऐसे लोग अन्य लोगों की तुलना में बेहतर और खुशहाल जिंदगी बिताते है. हमारे जीवन में चाहे कोई महंगी चीज होना हो लेकिन एक सच्चा मित्र जरूर होना चाहिए जो हमारे साथ हर पल हर परिस्थिति में खड़ा रहे. दोस्त ऐसा होता है जो बिना कहे ही हमारी सभी भावनाओं और चिंताओं को समझ लेता है. अगर दोस्त से मिले हुए बहुत समय हो जाता है तो फिर उस दोस्त का अभिवादन गालियां देकर किया जाता है. तभी हमारे दिल को सुकून या शांति मिलती है. सचमुच में दोस्ती एक बहुत ही पवित्र रिश्ता होता है. हमारे देश में कृष्ण सुदामा की दोस्ती की लोग मिसाल देते हैं तो हमें अपनी संकट पर गर्व होना चाहिए क्योंकि भारत की सच्ची दोस्ती की मिसाल पूरी दुनिया में फैली हुई है.

हमारा भारत देश भी हमारे पड़ोसी देशों के साथ अपनी मित्रता को बनाए रखता है और सभी के साथ मित्रता का हाथ भी बढ़ाता है. लेकिन हम एक वास्तविक बात बताना चाहें तो हम कह सकते हैं कि मित्रता का कोई भी एक निश्चित दिन नहीं होता है. क्योंकि मित्रता का ऐसा हमें हर दिन हो जाता है यदि हम अपने दोस्त से नहीं मिलते हैं तो. एक सच्चा मित्र अपने दोस्त की भावनाओं की कद्र करता है. दोस्ती ऐसा रिश्ता होती है जहां पर अमीर और गरीब के भेदभाव को भुलाकर सच्ची मित्रता का रिश्ता कायम रहता है.

मित्रता का प्रभाव ( paragraph on friendship in hindi )

हमारे माता पिता और गुरुजन हमें कहते रहते हैं कि हमें हमेशा अच्छे लोगों की संगति में ही रहना चाहिए. क्योंकि एक अच्छी संगति हमें एक ऊंचे मुकाम पर ले जा सकती है. और बुरी संगति हमें कई सारी दुविधाओ में डाल सकती है. संगत का हमारे जीवन पर बहुत ही गहरा और गंभीर प्रभाव पड़ता है यदि हम किसी बुरे मित्र से मित्रता कर लेते हैं तो उसके कारण हमें हमेशा निराशा हाथ लगती है. 

अगर सौभाग्य से हमारे जीवन में सच्चा मित्र है तो हमारा जीवन किसी स्वर्ग से कम नहीं होता है. इसलिए अगर आपके जीवन में भी कोई सच्चा मित्र है तो उसे हीरे की तरह संभालकर रखिए और अगर बुरा मित्र है तो उसे इस मित्रता दिवस पर हाथ जोड़कर अलविदा कर दीजिए. अगर आपका कोई सच्चा मित्र आप से गुस्सा है तो आप मित्रता दिवस के दिन अपने दोस्त यार को गले मिलकर अपनी दोस्ती को फिर से कायम कर सकते हैं.

मित्रता दिवस कैसे मनाया जाता है (How Does Friendship Day Celebrated in Hindi?)

वर्तमान युग में सभी के पास मोबाइल फोन और इंटरनेट उपलब्ध हैं जहां पर कोई भी खबर आपकी तरह फैलती है. मित्रता दिवस के दिन सोशल मीडिया के माध्यम से लोग अपने सभी नए पुराने मित्रों को मित्रता दिवस की शुभकामनाएं देते हैं. मित्रता दिवस हमारे देश भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है और विदेशों के लोग भी अपने मित्रों को इस दिन ढेरों बधाइयां देते हैं. बहुत सारे लोग अपने बेस्ट फ्रेंड को ग्रीटिंग कार्ड तैयार कर-कर भी देते हैं. 

इसके साथ ही मित्रता दिवस की इस अवसर पर लोग अपने दोस्तों के साथ घूमने, पार्टी मनाने जाते हैं. और अपने दोस्तों को गिफ्ट देकर अपने मित्रता को व्यक्त करते हैं. मित्रता किसी व्यक्ति की मोहताज नहीं है आप चाहें तो आप अपने बेस्ट फ्रेंड को सिर्फ एक गुलाब दे कर भी मित्रता दिवस की शुभकामनाएं दे सकते हैं.

उपसंहार: दोस्ती में छोटी मोटी खटास मिठास चलती रहती है. कभी दोस्तों में छोटी मोटी कहा सुनी भी हो जाती है. तो आपको अपने दोस्त को मना लेना चाहिए. कवि रहीम दास जी आपने दोहे में कहते है कि जब किसी व्यक्ति के पास संपत्ति होती है तब उसके बहुत सारे सगे संबंधी और मित्र बन जाते है और उसके पास आते हैं, लेकिन जब लेकिन जब दीपक लेकिन जब विपत्ति का समय आता है तो आपका साथ सिर्फ सच्चा मित्र ही देता है.

FAQs About essay about friendship in hindi

Q1.Friendship Day Kab Hai 2022?

Ans. इस वर्ष Friendship Day 07 August को पूरी विश्व में मनाया जाएगा. क्योंकि प्रत्येक वर्ष मित्रता दिवस अगस्त महीने के पहले रविवार को मनाया जाता है.

Q2. What is Friendship in Simple Words?

Ans. अगर साधारण शब्दों में कहें तो दोस्तों से ही खुशियां होती है दोस्तों के बिना संसार सुना सुना लगता है.

About Friendship in Hindi Essay

हमारे सभी प्रिय विद्यार्थियों को इस essay about friendship in hindi से जरूर मदद हुई होगी यदि आपको यह essay about friendship in hindi अच्छा लगा है तो कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको यह about friendship in hindi essay कैसा लगा? हमें आपके कमेंट का इंतजार रहेगा और आपको अगला Essay कौन से टॉपिक पर चाहिए इस बारे में भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं ताकि हम आपके अनुसार ही अगले टॉपिक पर आपके लिए निबंध ला सकें.

Essayduniya Home Page Click Here

Sharing Is Caring:

Leave a Comment